Sunday 16th of June 2024

Haryana: लोकसभा चुनाव 2024 में कौन साबित होगा ‘सियासी सूरमा’…दांव पर विरासत

Written by  Rahul Rana   |  May 24th 2024 07:50 PM  |  Updated: May 24th 2024 07:50 PM

Haryana: लोकसभा चुनाव 2024 में कौन साबित होगा ‘सियासी सूरमा’…दांव पर विरासत

ब्यूरो: भिवानी-महेंद्रगढ़ संसदीय सीट पर इस बार कई सियासी परिवारों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। किसी के सामने अपना वजूद बचाने का सवाल खड़ा है, तो कहीं स्वयं का गढ़ बनाने कोशिश हो रही है। कांटेदार दोहरे मुकाबले वाली सीट पर पहली बार कांग्रेस के अहीवाल से राव दान सिंह मैदान में हैं वहीं ऐसा भी पहली बार है जब स्व. बंसीलाल परिवार से कोई चुनाव मैदान में नहीं उतरा। कांग्रेस से राव दान सिंह जहां पिछली दो बार कांग्रेस की हार का बदला लेने के सपना संजोये हैं वहीं भाजपा से धर्मबीर सिंह अपनी जीत की हैट्रिक बनाने के लिए डटे हैं। 

बंसीलाल परिवार के खिलाफ कई बार चुनाव लडऩे वाले धर्मबीर सिंह के सामने उनके पुराने दोस्त अहीरवाल से राव दान सिंह पहली बार मैदान में हैं। बीजेपी को उनके रूप में बड़ी संभावना दिखाई दे रही है क्योंकि धर्मबीर पहले बंसीलाल सरीखे नेताओं को हरा चुके हैं। जाट और अहीर वोटों की बहुतायत वाली इस सीट पर जजपा प्रत्याशी राव बहादुर सिंह को मजबूत मान रहे हैं। इस बार भाजपा के धर्मबीर सिंह व कांग्रेस के राव दान सिंह का आमना-सामना है। वहीं जजपा से राव बहादुर सिंह व इनेलो समर्थित सुभाष परमार भी मैदान में हैं। 

17 लाख 88 हजार मतदाता तय करेंगे भविष्य

भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 17 लाख 88 हजार है। इनमें 9 लाख 43 हजार 237 पुरुष और 8 लाख 44 हजार 780 महिलाएं हैं। जाटलैंड भिवानी और चरखी-दादरी जिले में तकरीबन 10 लाख और 7 लाख से ज्यादा मतदाता अहीरवाल के महेंद्रगढ़ जिले में हैं। सबसे अधिक तकरीबन 4 लाख जाट मतदाता यहां हैं। उसके बाद करीब 3 लाख अहीर, 1.50 लाख से ज्यादा ब्राह्मण, 1 लाख से ज्यादा राजपूत और 3 लाख के करीब अनुसूचित जाति के वोटर हैं। 

बंसीलाल को हराकर हरियाणा की पहली महिला सांसद बनी थीं चंद्रावती

70 के दशक में जनता पार्टी की ओर से भिवानी संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ते हुए चरखी दादरी के गांव डालावास की चंद्रावती ने प्रदेश के कद्दावर नेता और पूर्व सीएम बंसीलाल को करारी शिकस्त देते हुए हरियाणा की पहली महिला सांसद बनने का गौरव प्राप्त किया है। 1977 में जब राजनीति में महिलाओं की भागीदारी न के बराबर थी, चरखी दादरी की चंद्रावती ने भिवानी लोकसभा क्षेत्र के पहले चुनाव में 67.62 प्रतिशत वोट लेकर जीत का जो रिकार्ड बनाया था, वह आज तक तोड़ा नहीं जा सका है। 

जीत में यह मतदाता अहम

भिवानी महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र में करीब चार लाख जाट, साढ़े तीन लाख अहीर, तीन लाख अनुसूचित जाति, एक लाख साठ हजार ब्राह्मण, एक लाख राजपूत व अन्य वोटर हैं। चुनाव में मुख्य रूप से अहीर, जाट और अनुसूचित जाति के मतदाता अहम भूमिका निभाएंगे। भिवानी महेंद्रगढ़ लोकसभा में नौ विधानसभा आती हैं। इसमें भिवानी में लोहारू, बाढड़ा, दादरी, भिवानी, तोशाम और महेंद्रगढ़ में अटेली, महेंद्रगढ़, नारनौल और नांगल चौधरी। इन नौ सीटों पर पांच पर भाजपा, कांग्रेस का दो सीटों पर और एक सीट पर जजपा का कब्जा है।

PTC NETWORK
© 2024 PTC News Haryana. All Rights Reserved.
Powered by PTC Network